Wednesday, November 28, 2018

और गुमान इत्मीनान का...

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

एक पल जीत का,
एक पल अतीत का I

एक पल जिस्म का,
एक पल तिलिस्म का I

एक पल उजास का,
एक पल उदास का I

एक पल उड़ान का,
एक पल थकान का I

एक पल मसान का,
एक पल मुस्कान का I

एक पल की ज़िंदगी,
और गुमान इत्मीनान का I
###

10 comments:

  1. So profound and deep! Loved the poem. It's these emotions that add varying shades to our life.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks a lot Dipali for appreciating the post for its qualities.

      Delete
  2. बहुत अच्छी कविता 👍 नीरज। इसी तरह ऋतिक रोशन का एक प्रसिद्ध गीत है।

    एक पल का जीना फिर तो है जाना
    तोफ़ा क्या लेके जाये दिल ये बताना
    खली हाथ आये थे हम खाली हाथ जायेंगे
    बस प्यार के दो मीठे बोल झिलमिलायेंगे

    ReplyDelete
  3. धन्यवाद सचिन!

    ReplyDelete
  4. kya bat hai Neeraj, in last two lines essence of life.

    एक पल की ज़िंदगी,
    और गुमान इत्मीनान का

    ReplyDelete
  5. Thanks a lot Bhawana for exuberant appreciation of the post.

    ReplyDelete
  6. Thanks Ranjana Jee for your appreciating words.

    ReplyDelete